“राष्ट्रीय एकता में भाषा का योगदान” – एक दिवसीय गोष्ठी का सफल आयोजन

इंद्रप्रस्थ अध्ययन केंद्र, द्वारका इकाई के द्वारा 24 फरवरी, 2019 (रविवार) कोराष्ट्रीय एकता में भाषा कायोगदानविषय पर गोष्ठी का आयोजन A-7, श्रीराम कुटीर, चाणक्य प्लेस, नई दिल्ली-59 में किया गया। गोष्ठी का समयप्रातः 8:30 बजे से 10 बजे तक था। गोष्ठी के मुख्य वक्ता श्री अमित सिंह जी (प्राध्यापक, ARSD महाविद्यालय) रहे | इसकार्यक्रम का शुभारम्भ माँ सरस्वती की वंदना एवं श्री अमित जी को सम्मानित करके किया गया।

श्री अमित जी ने बताया कि भारत विभिन्न भाषाओं, बोलियों और अनेक विविधताओं का देश है। भाषा ही संस्कृति एवं संपर्क का मुख्य आधार होती है इसका प्रमाण हमें मॉरीशस, थाईलैंड, कंबोडिया, मलेशिया आदि देशों में भी प्राप्त होता है। अनेक बार हमें भाषा के माध्यम से भी बांटने का कुत्सित प्रयास किया जाता है लेकिन सब प्रयासों को विफल कर हमसब सदैव एकता का प्रमाण देते हैं

श्री अमित जी ने कई श्रोतागण के प्रश्न भी लिए और उनके जिज्ञासा को अपने उत्तर द्वारा शांत भी किया 

कार्यक्रम का मंच संचालन श्री मनीष जी द्वारा किया गया, श्री विवेक जी ने इन्द्रप्रस्थ अध्ययन  केंद्र का परिचय दिया ।गोष्ठी में इंद्रप्रस्थ अध्ययन केंद्र की केंद्रीय टोली के सदस्य, रा.स्व.संघ के चयनित वर्ग के कार्यकर्त्ता एवं रा.स्व.संघ के कई वरिष्ठ कार्यकर्त्ता अधिकारी भी उपस्थित रहे तथा संगोष्ठी में कुल 85 प्रबुध्द जन उपस्थित रहे।